Posts

Showing posts from June, 2008

अब कार में भी इन्टरनेट कनेक्शन

अरे हम गप्प नही मार रहे है बल्कि सच कह रहे है। अब आजकल तो हर काम इन्टरनेट से जुड़ गया है और लोग हर दम इन्टरनेट से जुड़े रहना चाहते है। वो चाहे घर हो या दफ्तर। पर कार में इन्टरनेट करने में समस्या आती है न। आती है कि नही । तो अब ऐसी कार जिसमे इन्टरनेट कनेक्शन हो और जिससे ड्राइव करते हुए भी इन्टरनेट करा जा सके। कुछ ऐसी ही कार अमेरिका की ऑटोमोबाइल बनाने वाली कंपनी Chrysler बनाने की सोच रही है। इस कंपनी का कहना है की UConnect Web system से वायरलेस कनेक्शन के जरिये कार में नेट किया जा सकेगा। और इस कनेक्शन के जरिये इन्टरनेट से कोई भी चलती गाड़ी में अपने e mail चेक कर सकता है।फोटो और music डाउनलोड कर सकता है और तो और गेम भी खेल सकता है। अरे एक्सीडेंट का खतरा बढ़ जायेगा। अब देखना है कि कार में इन्टरनेट कनेक्शन होने से लोगों को परेशानी होती है या नही। और इसके कुछ फायदे है या नही।

अब विम्बलडन मे भी मैच फिक्सिंग ...

है न आश्चर्य वाली बात कि विम्बलडन मे भी मैच fix होते है।अभी तक तो क्रिकेट के बारे मे ही सुना था पर अब विम्बलडन भी इससे अछूता नही रहा । पिछले साल हुए विम्बलडन खेलों मे ८ मैच fix किए गए थे।जिसमे से ४ पुरूष एकल खिताब के लिए खेले गए थे। और पिछले साल जिन १८ खिलाड़ियों ने ये मैच फिक्सिंग कि थी वो इस साल के विम्बलडन मे भी पुरूष एकल मुकाबले मे भाग लेने के लिए लन्दन पहुंचे है जिसमे रशिया ,अर्जेंटीना ,इटली,और ऑस्ट्रिया के खिलाड़ी है। विस्तार मे आप ख़बर यहाँ पढ़ सकते है। महिला टेनिस खिलाड़ी मार्टिना नवरातिलोवा ने कहा है कि जिन खिलाड़ियों ने मैच फिक्सिंग कि है उनके खेलने पर जिंदगी भर का बैन लगाना चाहिए । नवरातिलोवा का कहना है कि ऐसे खिलाड़ियों पर बैन लगाना खेल की गरिमा को बनाए रखने के लिए जरुरी है।

इन्टरनेट पर जिंदगी भी नीलाम कर सकते है :)

अभी तक बाजी . कॉम और अन्य साईट के बारे मे सुना था जहाँ हम और आप किसी भी वस्तु वो चाहे कपड़े हो किताबें हो कैमरा हो फ़ोन हो उन्हें नीलाम कर सकते है । प्रोडक्ट को साईट पर लगाया और खरीदने वाले बोली लगानी शुरू कर देते है। आम तौर पर एक प्रोडक्ट को एक हफ्ते के लिए साईट पर लगाया जाता है। पर अब जमाना बदल रहा है और नीलम होने वाली चीजें भी ।अब इन्टरनेट पर लोग जिंदगी भी auction कर सकते है और खरीदने वाले और बोली लगाने वाले भी इन्टरनेट पर मिल जाते है। :) और कमाल की बात है कि Ian Ushers के घर,दोस्त,और उसकी नौकरी की बोली लगाने वाले आपस मे लड़ रहे है औए सिर्फ़ रविवार के दिन ही ४० लोगों ने बोली लगाई ६५०,००० डॉलर की। और Ian Ushers ने ये auction इसलिए किया क्यूंकि उसकी पत्नी उससे अलग हो गई है। और वो अपनी जिंदगी की नई शुरुआत करना चाहता है। वाह क्या आईडिया है । :) यकीन ना आए तो ये ख़बर पढ़ लीजिये। यकीन आया न कि हम यूँ ही नही कह रहे थे । :)

२५ जून .१९८३ जब लॉर्ड्स मे भारत ने जीता वर्ल्ड कप

पिछले दस दिनों से हर तरफ़ १९८३ वर्ल्ड कप की धूम सी मची है । हर टी.वी.चैनल पर रोज १९८३ की विश्व विजेता टीम के किसी न किसी खिलाडी से बात करते रहते है। आख़िर २५ साल यानी वर्ल्ड कप की सिल्वर जुबली जो है। कल बी.सी.सी.आई. ने सभी वर्ल्ड कप विजेताओं का सम्मान किया और सभी खिलाड़ियों ने वो चाहे रोजर बिन्नी हो या रवि शास्त्री हो या फ़िर लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर हो या मोहिंदर अमरनाथ हो और चाहे उस विजेता टीम के कप्तान कपिल देव हो सभी ने २५ साल पहले हुए उस खेल को और उस लम्हे को अपने - अपने अंदाज मे याद किया। दिल्ली मे ८२ asiad games के दौरान कलर टी.वी.खूब बाजार मे आ गए थे। ८२ मे ही हम लोगों ने भी कलर टी.वी.खरीदा था।उस समय तो asiad का चस्का था पर जब १९८३ मे लन्दन मे वर्ल्ड कप शुरू हुआ तब भारत के लोगों मे जोश तो था पर ये कोई नही जानता था की भारतीय टीम जीत जायेगी। उस जमाने मे तो रेडियो पर ही कमेंट्री सुनते आए थे और टी . वी . पर क्रिकेट देखने का मजा ही कुछ और था । और चूँकि फाइनल मैच का प्रसारण लन्दन के लॉर्ड्स स्टेडियम से दूरदर्शन कर रहा था और

१८ जून गोवा का क्रांति दिवस (revolution day)

Image
१८ जून को हर साल गोवा मे क्रांति दिवस के रूप मे मनाया जाता है। क्यूंकि १८ .६. १९४६ मे डॉक्टर राम मनोहर लो हिया ने गोवा के लोगों को पुर्तगालियों के ख़िलाफ़ आवाज उठाने के लिए प्रेरित किया । १८ जून को गोवा की आजादी की लडाई के इतिहास मे स्वर्ण अक्षरों से लिखा गया है । १८ जून १९४६ को डॉक्टर राम मनोहर लोहिया जी ने गोवा के लोगों को एकजुट होने और पुर्तगाली शासन के ख़िलाफ़ लड़ने का संदेश दिया था । १८ जून को हुई इस क्रांति के जोशीले भाषण ने आजादी की लड़ाई को मजबूत किया और आगे बढाया । इस साल भी गोवा मे revolution day के दिन अलग-अलग जगहों जैसे पंजिम, मडगांव और वास्को मे समारोह का आयोजन किया गया।पंजिम के आजाद मैदान मे गोवा के गवर्नर श्री एस.सी.जमीर गोवा के मुख्यमंत्री और गोवा सरकार के अधिकारियों और जनता ने इस समारोह मे भाग लिया। इस साल ४१ स्वतंत्रता सेनानियों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर गवर्नर ने सबसे पहले आजादी की इस लड़ाई मे शहीद हुए सेनानियों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए ।२१ गन से सलामी दी गई। उसके बाद मुख्यमंत्

तनिश्कर स्पाईस फार्म (tanishkar spice farm and heritage huose)

Image
तनिश्कर स्पाईस फार्म पंजिम से करीब ७० कि.मी.दूर है पर मडगांव से ४० -४५ कि.मी.दूर है।सांगे (sanguem) से आगे जाने पर नेत्रोली (netravalim)नाम की जगह है ये तनिश्कर फार्म वहीं पर है।ये पूरी तरह से ओर्गानिक फार्म है . और इस फार्म को गोवा सरकार से award भी मिल चुका है। यहां पर फार्म हाउस के साथ-साथ गोवा के बिल्कु ल पुराने तरह का घर भी देखने को मिलता है। जो २०० साल पुराना है और मिटटी का बना है।इस घर मे और स्पाईस फार्म को घुमाने के लिए अलग -अलग रेट होता है। जैसे अग र सीजन है तो ३०० से ५०० रूपये एक व्यक्ति के लिए जिसमे एक welcome drink देते है और इसके अलावा लंच और चलते समय उन्ही के फार्म हाउस के मसालों का एक छोटा सा गिफ्ट पैक भी देते है। आम तौर पर लोग पैकेज टूर लेकर जाते है।(जिसमे घर,स्पाईस फार्म,bubble pond, और ट्रैकिंग होता है और इसके लिए ३-४ घंटे से ज्यादा लगते है ) और लंच के लिए पहले से बताना पड़ता है. अगर लंच नही है तो १५० रूपये प्रति व्यक्ति लेते है। हम लोग चूँकि डेढ़ बजे पहुंचे थे इसलि ए लंच हम लोगों ने नही लिया और १५० रूपये वाला टूर लिया जिसमे करीब ४५ मिनट मे उसने सब क

जरा इन्हे पहचानिए और गीत सुनिए :)

Image
क्या आप इसे पहचानते है । अरे क्या कहा आपने इसे नही पहचाना । चलिए कुछ हिंट दे देते है. साहब , बीबी और गुलाम मे इसने वहीदा रहमान को तंग किया था तो परिचय मे जया भादुरी को और भंसाली वाली देवदास मे ऐश्वर्या राय को तंग किया था गुन - गुन करते हुए। आज सुबह बालकनी की खिड़की से अन्दर आ गए थे और हमने बिना समय गंवाए झट से मोबाइल से फोटो खींची और फट से esnip से गाने लोड किए और आपके सामने पेश है। अब हमने सोचा कि जब भँवरे की फोटो लगा ही रहे है तो अंडमान वाले भँवरे की भी लगा ही दे । दाहिनी ओर पौधों के बीच जो भँवरे की फोटो है वो अंडमान की है । Powered by eSnips.com

ऐसी बारिश जैसे सियार का ब्याह हो रहा हो

Image
आजकल बारिश हर जगह जोरों पर है और गोवा मे तो बारिश एक बार शुरू हो जाए तो फ़िर सूरज देवता कहाँ है ढूँढने से भी पता नही चलता है। और जब सूरज देवता दिख जाते है तब जरा राहत महसूस होती है । बारिश मे क्या अच्छा घर और क्या ख़राब घर हर घर मे सीलन और खपरैल की छतों से पानी का चूना आम बात हो जाती है।जब यहाँ लगातार बारिश होने लगती है तो लगता है कि बारिश कुछ देर रुक जाए।वैसे जब से बारिश दिल्ली और बंगाल की तरफ़ हो रही है तब से यहाँ गोवा मे बारिश कुछ कम हो रही है । आजकल गोवा मे ऐसी बारिश हो रही है जैसे सियार का ब्याह हो रहा हो । भई हमने तो अपने बचपन ये जुमला खूब सुना है । जब हम लोग छोटे थे और जब धूप होते हुए बारिश होती थी तो लोगों को यही कहते सुना था । और उसके बाद इन्द्रधनुष भी दिखता था । ( तब अक्सर इन्द्रधनुष दिख जाता था ) अब ऐसा क्यूँ कहा जाता था ये पता नही है । अरे आप लोगों ने नही सुना है । कमाल है जब सूरज देवता दिख रहे हो और बादल कम दिख रहे हो और खिली धूप मे बस थोडी देर के लिए जोर दार बारिश ह

स्ट्रिप सर्च (strip search)

आज की हमारी ये पोस्ट ज्ञान जी की टिप्पणी से जुड़ी हुई है । कल ज्ञान जी ने समीर जी की पोस्ट पर टिप्पणी की थी। और फ़िर जब ndtv पर ये न्यूज़ देखी थी।तो अचानक ही इस पर पोस्ट लिखने की सोची। अमेरिका मे अब एअरपोर्ट पर स्कैनर मशीन लगाई जा रही है जिससे किसी भी तरह की दुर्घटना को रोका जा सके। इससे पहले मार्च मे लन्दन मे भी ऐसी ही मशीन thruvision नाम की एक कंपनी ने बनाई है । इस नई टेक्नोलॉजी का नाम t5000 system है।इसमे लगे कैमरा की मदद से कपडों मे छिपाए गए हथियार ,drugs,वगैरा के बारे मे पता लगाया जा सकता है। ओह हो अब क्या हम ही सारी ख़बर बताएँगे। अरे पहले आप इसे पढिये तो सही।

खूब बिक रहा है lalu mango :)

अब लगडा आम ,दसहरी आम ,चौसा ,एल्फंजो,सफेदा आम तो आपने सुना है पर अब lalu mango के बारे मे भी जरा सुन लीजिये। ये lalu mango पटना बिहार के बाजार मे खूब बिक रहा है और लोग खूब खरीद भी रहे है। अरे हम मजाक नही कर रहे है । अब lalu एक ब्रांड बनते जा रहे है। बिहार मे तो जहाँ दिवाली मे lalu ब्रांड पटाखे बिके थे वहीं होली मे lalu ब्रांड गुलाल भी खूब बिके थे। और अब इस साल lalu ब्रांड आम आ गया है। आमों पर बाकायदा lalu नाम का स्टिकर लगाया जा रहा है बिल्कुल एल्फंजो style मे और इसकी कीमत ३५ रूपये किलो है। आम बेचने वालों का कहना है कि जनता हमेशा कुछ नया चाहती है इसलिए दीघा आम का ही नया नाम lalu mango कर दिया है। और इससे आम खाने वाले भी खुश और आम बेचने वाले भी खुश। लोगों के इस आम को खरीदने से ये भी साबित हो रहा है कि lalu अभी भी लोगों मे प्रिय है। ऐसा आम बेचने वालों का कहना है। ओह हो अभी भी यकीन नही हो रहा है तो आप ख़ुद इस ख़बर को पढ़ लीजिये ।

भाभी आई -भाभी आई गीत मिल गया ...

बहुत दिन पहले रेडियोनामा पर अन्नपूर्णा जी ने इस गाने का जिक्र किया था । और कल esnip पर ढूँढने पर ये गाना मिल गया ।इस गाने को सुनते हुए उस ज़माने मे लौट जाइए जब छुक - छुक गाड़ी धुआं उड़ाती हुई चलती थी।और हम और आप कितनी ही बार खिड़की से बाहर झांकते थे और बाहर झाँकने पर आँख मे कोयला पड़ता था और तब हाथ से आँख मलते हुए सिर अन्दर करके कुछ देर बैठते थे और थोडी देर बाद फ़िर सिर बाहर । :) ( तब ज्यादातर ट्रेन की खिड़कियों मे लोहे की rod नही लगी होती थी ) फ़िल्म सुबह का तारा (१९५४) के इस गाने मे तो भाभी को ना जाने कितनी मुसीबतों का सामना करना पड़ा जरा सुनिए । Powered by eSnips.com

सावधान ! खर्राटे लेना कम कर दे

अभी तक जोर-जोर से खर्राटे लेने से साथ वाले की नींद ही ख़राब होती थी पर इससे खर्राटे लेने वाले के ऊपर कोई दुष्प्रभाव नही पड़ता था । पर अब अगर आप जोर-जोर से खर्राटे लेते है तो जरा सावधान हो जाइए। क्यूंकि आज पेपर मे छपी ख़बर के मुताबिक जोर -जोर से खर्राटे लेने से याददाश्त पर असर पड़ सकता है। AIIMS के डॉक्टर के.के.हांडा का कहना है कि तकरीबन ६० प्रतिशत लोग जो जोर-जोर से खर्राटे लेते है वो OSA से ग्रस्त होते है। OSA यानी obstructive sleep apnoea । OSA मस्तिष्क के tissue को नुकसान पहुँचाती है । पूरी ख़बर इस लिंक पर जाकर पढे।

पांडव केव्ज ( pandav caves)

Image
जब हमे इस केव के बारे मे पता चला तो हमे जरा आश्चर्य भी हुआ था कि गोवा मे गुफा । । और वो भी पांडवों की । तो ये तय हुआ किसी दिन केव यानी गुफा को देखने भी जायेंगे । ये पांडव केव्ज रिवोना मे स्थित है और रिवोना panjim से ७० - ७५ कि . मी दूर है । पर मडगांव से पास है करीब ३० - ४० कि . मी . । तो एक दिन चल दिए हम लोग रिवोना मे पांडव केव्ज देखने । और ये ७० कि . मी . तय करने मे करीब डेढ़ से दो घंटे लग जाते है वैसे अगर कार का चालक ज्यादा तेज हो तो भी करीब - करीब इतना ही समय लगता है क्यूंकि रिवोना कि सड़क जरा पतली है और चूँकि उधर mines है इसलिए उस रास्ते पर ट्रक बहुत चलते है । अगर आप दोपहर मे उस रास्ते जायेंगे तो सड़क पर लोग कम ही दिखते है । बस बीच - बीच मे कोई ट्रक आते - जाते दिखते है । खैर जब रिवोना पहुंचे तो पांडव केव के बारे मे लोगों से पूछा तो एक बुड्डे से आदमी ने मुख्य सड़क से नीचे जाने वाली पगडण्डी की ओर इ

हैप्पी फादर्स डे आज की पोस्ट पापा के नाम

पिता के बारे मे जितना कहा और लिखा जाए वो कम है। पिता की छत्र छाया मे पल कर बड़े होना जिसमे संस्कार और संरक्षण के साथ-साथ प्यार भी खूब मिलता है । पापा जिनका हाथ पकड़ कर चलना सीखा जिनकी उंगली पकड़ कर आगे बढ़ना सीखा याद नही कभी जब आपने जोर से डांटा हो पर रिक्शे पर अपने पैरों पर बिठा कर घुमाने ले जाना खूब याद है आज फादर्स डे के दिन हम सब भाई-बहनों की ओर से पापा आपको हैप्पी फादर्स डे हम सबको गर्व है कि हम आपके बच्चे है। ब्लॉगर परिवार के सभी सदस्यों को फादर्स डे की हार्दिक शुभकामनाएं ।

मोबाइल बैंकिंग का जमाना आ गया ....

अभी तक तो हम लोग नेट बैंकिंग के बारे मे जानते थे और करते थे पर अब कुछ महीनों बाद मोबाइल बैंकिंग भी कर सकेंगे। रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने इस बात का संकेत दिया है। अब अपने मोबाइल से ही आप पैसा ट्रांसफर कर सकते है क्रेडिट कार्ड के बिल दे सकते है और अपने अकाउंट का बैलेंस देख सकते है।अब इस सब कामों के लिए ना तो आपको बैंक जाना होगा और ना ही आपको अपने कम्पूटर या लैपटॉप को ही खोलना पड़ेगा। हाँ पैसा निकालने के लिए जरुर जाना पड़ेगा। :) मोबाइल बैंकिंग शुरू करने का एक कारण ये बताया गया है कि अपने देश मे २६ करोड़ से भी ज्यादा मोबाइल subscribers है जिनकी तुलना मे बैंक खाते कम है. नेट बैंकिंग की तरह मोबाइल बैंकिंग मे भी मोबाइल पिन (mpin)दिया जायेगा जिसमे कम से कम ४ digit नंबर होंगे ।इस लिंक पर जाकर मोबाइल बैंकिंग के बारे मे आप पूरी ख़बर पढ़ सकते है। अब ये सफल होता है या नही ये तो आने वाला समय ही बताएगा।

स्कूटर चलाना तो सीखा पर चलाया नही :)

अपनी साइकिल सीखन े की दास्तान तो हम बता ही चुके है और आज हम अपने स्कूटर सीखने का किस्सा यहां लिख रहे है। घर मे सबसे छोटे होने की वजह से स्कूटर और कार सीखने की नौबत या यूं कहें की नंबर नही आ पाया ।उस समय इलाहाबाद मे लड़कियां स्कूटर कम ही चलती थी पर हाँ लूना बहुत चलाती थी जो साइकिल और स्कूटर का मिला -जुला सा रूप था । मिला जुला इसलिए की अगर कहीं पेट्रोल ख़त्म हो जाता था तो पैडल मारकर भी चलाया जा सकता था । :) वैसे उन दिनों लूना बहुत प्रचलित थी । पर लूना को हमने कभी स्कूटर के बराबर का नही माना । ( लूना चलाने वालों से माफ़ी चाहते है ) तो इसलिए चलाने का सवाल ही नही था । वो कहते है ना कि जिसने साइकिल चलाई हो उसे स्कूटर सीखने मे कोई दिक्कत नही आती है । पर ऐसा कुछ नही है स्कूटर सीखना भी कम मुश्किल काम नही है । कहाँ हलकी - फुलकी साइकिल और कहाँ भारी - भरकम स्कूटर । पर एक बात सही है कि साइकिल चलने वाले जल्दी स्कूटर सीख लेते है । वैस्पा के लिए कहा जाता था कि वो हल्का स्कूटर

श्रुति-गोरे ने ये साबित किया कि ......

१० जून को राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने इस साल के राष्ट्रीय बालश्री पुरस्कार प्रदान किए। श्रीमती प्रतिभा पाटिल ने श्रुति और गोरे को बालश्री award प्रदान किया। श्रुति और गोरे जुड़वाँ बहने है । ये दोनों बहने कानपुर उत्तर प्रदेश की रहने वाली है। श्रुति और गोरे की उम्र १६ साल है। ये दोनों बहने बहुत सुंदर पेंटिंग्स करती है।और गाना भी अच्छा गाती है। पूरी ख़बर इस लिंक पर जाकर पढिये। इन दोनों बहनों ने ये साबित कर दिया की अगर मन मे चाह हो तो जीवन मे कुछ भी हासिल किया जा सकता है। और अपनी मंजिल हासिल करने मे ना तो कोई बीमारी और ना ही समाज कोई बाधा खड़ी कर सकता है । श्रुति और गोरे के माता - पिता को भी श्रेय जाता है जिन्होंने अपनी बेटियों को जीवन से हारना नही बल्कि जीवन को जीतना सिखाया है ।

तरबूज और वो भी ढाई लाख का ....

बिल्कुल ठीक पढ़ा है आपने पर क्या आपने कभी ढाई लाख का तरबूज देखा या सुना या खाया है। हमने तो इससे पहले तरबूज की इतनी बड़ी कीमत नही सुनी थी। इतने कीमती तरबूज को तो खाते हुए लगेगा कि तरबूज फल नही बल्कि अपना रुपया खा रहे है। :) खैर ये तो रही हमारी बात तो चलिए आपको इस ढाई लाख के तरबूज के बारे मे भी कुछ बता दे। ये काले रंग का ८ किलो का Densuke watermelon माने तरबूज है।इसे जापान के उत्तरी द्वीप के hokkaido मे उगाया गया है। इसे जापान मे नीलामी के दौरान ६५०,००० येन मतलब ढाई लाख रूपये के आस-पास मे बेचा गया। जापान मे तरबूज को लोग उपहार के तौर पर देते है ।अब अपने हिन्दोस्तान मे कोई तरबूज उपहार दे तो लोग उपहार देने वाले के सर पर ही तरबूज को फोड़ दे। :) अरे आपको अभी भी हमारी बात पर यकीन नही आ रहा है तो इस लिंक को पढिये और इस काले तरबूज की फोटो देखिये और फ़िर बताइए कि क्या इससे पहले आपने ऐसा तरबूज देखा या सुना था। :)

ये कैसा इतिहास जिसमे गांधी जी को .....?

अभी हाल मे ही गोवा मे मराठी और इंग्लिश की कक्षा दस की इतिहास और सोशल साईंस की किताब छप कर आई है और जिसे शिक्षा विद प्रोफेसर सुरेश अमोनकर ने तुरंत ही इस किताब को वापस लेने को कहा है। क्यों तो इस लिंक को पढिये और navhind times मे विस्तार मे छपी इस ख़बर को भी पढिये। इतना ही नही आज ही अखबार मे ख़बर है कि केरल की क्लास ५ और ७ की इतिहास की किताब मे भी महात्मा गांधी को अपमान जनक तरीके से प्रस्तुत किया गया है।

palacio do deao ( गोअन हेरिटेज हाउस )

Image
गोवा मे beaches के अलावा भी इतनी सारी जगहें है देखने के लिए की अगर हर हफ्ते भी घूमने जाए तो कम पड़ जाए।हमने अपनी पोस्ट मे कहा भी था कि यहां पर कुछ हेरिटेज हाउस है जिन्हें देखना भी अपने आप मे एक अनुभव ही है । हेरिटेज हाउस की शुरुआत तो हम कर ही चुके है तो ऐसे ही एक और हेरिटेज हाउस को देखने के लिए हम लोग गए। पंजिम से करीब ४०-५० कि.मी दूर quepem ( quepem को केपे कहा जाता है। ) पर मडगाँव से बस १५ कि.मी.दूर यह हेरिटेज हाउस है, ये २०० साल पुराना है।यहां पर पहुँच कर एक बार को लगता है कि शायद ग़लत जगह आ गए है।क्यूंकि ये देखने मे museum जैसा कम बल्कि किसी का घर ज्यादा लगता है। और इस doggi को देख कर भी क्यूंकि किसी भी museum मे doggi स्वागत नही करता है । यहां पर दो गेट है पहले गेट के अन्दर दाखिल होते ही दाई तरफ़ जोस पाउलो की मूर्ति और बाई तरफ़ कुआँ दिखाई देता है । । यहां के हर घर मे कुआँ जरुर होता है । और जैसे ही दूसरे गेट से अन्दर दाखिल होते है क ि एक छोटा सा प्यारा सा doggi भौंक-भौंक कर स्वागत करता है। पर और कोई

गुलमोहर गर तुम्हारा नाम होता

Image
आजकल गोवा मे चारों तरफ़ इतने अधिक गुलमोहर खिले है की उन्हें देख कर ये गाना याद आ गया। देवता फिल्म का ये गीत किशोर कुमार और लता की आवाज मे आप भी सुनिए । और हाँ गाने के साथ -साथ हम यहां एक गुलमोहर के फूलों से भरे पेड़ की फोटो भी लगा रहे है। तो बस संडे के दिन आनंद उठाइए इस गाने का। Powered by eSnips.com

बंद और चक्का जाम

चाहे कोई राजनैतिक पार्टी हो या कोई आन्दोलन कारी हो जिस किसी को भी आपना आक्रोश दिखाना होता है वो बंद , और चक्का जाम का सहारा लेता है। पिछले १४-१५ दिनों से आरक्षण के लिए राजस्थान मे गुज्जर आन्दोलन के चलते सारे रेलवे ट्रैक को गुज्जर आन्दोलन कारियों ने जाम कर रक्खा है। कितनी ही ट्रेन रद्द कर दी गई और कितनी ही ट्रेनों के रास्ते बदल दिए गए। और जब ये आन्दोलन और बढ़ा तो इसने दूसरे राज्यों मे भी अपना रूप दिखाया जैसे दिल्ली ,यू,पी,वगैरा मे जब ये आन्दोलन बढ़ा तो ना केवल रेलवे ट्रैक बल्कि सड़कों को भी बंद किया गया और चक्का जाम किया गया। अभी गुज्जरों का आन्दोलन चल ही रहा था कि केन्द्र सरकार द्वारा की गई पेट्रोल ,डीजल ,और एल,पी,जी,गैस के दामों मे हुई बढोत्तरी और महंगाई को लेकर लेफ्ट ने आन्दोलन का एलान कर दिया। लेफ्ट पार्टी यू.पी.ए.सरकार मे पहले दिन से ही उनकी नीतियों के ख़िलाफ़ जब-तब रुठती रहती है और समर्थन वापसी की धमकी भी देती रहती है पर बस जनता के लिए ही वो सरकार का साथ दे रही है। इस तरह से धमकियाँ देते हुए लेफ्ट ने ४ साल तो निकाल ही दिए है पर अब पेट्रोल के दामों के बढ़ने पर एक ब

एक शाम हरिहरन के लाइव शो के नाम (soul india)

Image
अभी कुछ दिन पहले हमने euphoria के live show का लुत्फ़ उठाया था और ३० मई को हरिहरन के live show का लुत्फ़ उठाया । ३० मई को गोवा के कला अकेडमी मे गोवा स्टेट फ़िल्म फेस्टिवल मे एक अवार्ड नाईट का आयोजन किया गया था । और ३० मई को ही गोवा को एक राज्य का दर्जा मिला था । और इन दोनों समारोह के लिए हरिहरन का soul india show हुआ और जिसमे हरिहरन ने अपने गीतों से दर्शकों को मोह लिया । इस समारोह का उदघाटन गोवा के मुख्य मंत्री ने किया था । उदघाटन समारोह के बाद बेस्ट फ़िल्म , बेस्ट ऐक्टर , बेस्ट ऐक्ट्रेस , वगैरा को अवार्ड दिया गया । इस मौके पर गोवा के एम . पी . शांता राम नाइक और शेखर कपूर भी थे । शेखर कपूर entertainment society of goa के chairman है । बेस्ट फ़िल्म के लिए अंतर्नाद को अवार्ड मिला । ये फ़िल्म राजेंद्र तलक ने बनाईं है । इस बाई ओर वाली फोटो मे राजेंद्र तलक को अवार्ड हुए आप देख सकते है । अवार्ड की ट्रॉफी देखने मे बहुत