राहुल के बोल

राहुल गाँधी ने अभी हाल ही मे उत्तर pradesh की एक चुनावी सभा मे कहा था की उनका खानदान जो कुछ करने की ठान लेता है उसे करके ही छोड़ता है चाहे वो आजादी हासिल करना हो या पाकिस्तान को २ भागों मे बाँटना हो या देश को २१वि सदी मे ले जाना हो पर वो ये भूल गए कि देश की इस हालत के जिम्मेदार भी उन्ही के खानदान वाले है। जोश मे होश खोना भी उनके खानदान की आदत सी है शायद आपको याद होगा एक बार राजीव गाँधी ने अपनी किसी चुनावी सभा मे विपक्षियों को उनकी नानी याद दिलाने की बात कही थी। अभी कुछ दिनों पहले तक तो वो जरा संभल -संभल कर बोलते थे पर शायद अब उनको ये लगता है कि अब वो अकेले अपने दम पर चुनाव जीत सकते है। पर भैया इस ग़लतफ़हमी मे मत रहना ।

Comments

संजय बेंगाणी said…
आपने सुना होगा, खाली घड़ा ज्या छलकता है. ;)
अरुण said…
राहुल जी की पूरी चीट्ठी यहा पढे http:// pangebaj .blogspot.com

Popular posts from this blog

कार चलाना सीखा वो भी तीन दिन मे .....

क्या उल्लू के घर मे रहने से लक्ष्मी मिलती है ?

निक नेम्स ( nick names )