पहली कोशिश एक गीत सुनवाने की

इतने दिनों से हम सोचते थे की कैसे अपनी पसंद के कुछ गीत आप लोगों को सुनवायें और आज सागर जी की पोस्ट पढ़कर हमारी ये समस्या भी हल हो गई। अब ये पहली कोशिश है देखें इसमे सफल होते है या नही।वैसे भी आजकल गोवा का मौसम बहुत सुहाना है बिल्कुल इस गीत की तरह।



Powered by eSnips.com

Comments

maithily said…
ममता जी, हम तो आपकी पसंद के गीत नहीं सुन पा रहे हैं.
PD said…
hamne to try bhi nahi kiya.. office me hain so gana nahi sun sakte.. :)
magar ye gaana mere aas paas baithe mere sabhi saathiyon ne sun liya.. main jo ga raha hun.. :)
गाना बेहद खूबसूरत है ...पर सुनाई नही दिया यहाँ पर ..:) वैसे मैंने इसको पूरा गुनगुना लिया है पर धीरे से कोई सुन न ले
mehek said…
bahut khubsurat geet hai ye,ekdam deewane se mausam ki tarah;)
वाकई... यह गीत सुनते ही मन झूमने लगता है। कमाल का गीत-संगीत और रफी साहब की आवाज। तबिय खुश हो गई। आपने पहली ही बार में बहुत बढ़िया गीत सुनवाया।
और हाँ पोस्ट लिखने की मेरी मेहनत सफल हुई..धन्यवाद। :)

@ रंजू और maithily sir
दरअसल समस्या नेट की कम गति का होना है। आप प्ले करने के बाद Pause कर दें पूरा लोड होने के बाद प्ले करें, बड़ी आसानी से बजने लगेगा।
Udan Tashtari said…
बढ़िया लगा गीत. बधाई आपकी सफलता पर.
mamta said…
कोशिश नाकाम हो गई अब इंतजार कीजिये अगली बार तक । :)

अरे हम तो अपनी ये टिप्पणी ऊपर वाली पोस्ट करने ही वाले थे की सागर जी की टिप्पणी पढ़ ली और ये जानकर अच्छा लगा की हम नाकाम नही हुए। :)
सागर जी एक बार फ़िर से शुक्रिया।

मैथली जी आशा है की अब आप गीत सुन सकेंगे।
रंजू जी और प्रशांत आप दोनों को गीत गाने के लिए धन्यवाद।
समीर जी और महक जी गीत पसंद करने के लिए शुक्रिया.
ममता जी , बडा सुहाना गीत है ..मौसम की तरहा हुम्म ~
Mired Mirage said…
बहुत बढ़िया गीत है। सुनवाने के लिए धन्यवाद।
घुघूती बासूती
बहुत प्यारा गीत .... पुराने गीतों की बात ही निराली है.. .बार बार सुनने पर भी दिल नही भरता .....
Gyandutt Pandey said…
वाह, पहली ट्राई में ही परफेक्शन! बहुत स्पष्ट और बुलन्द आवाज आवाज में अत्यन्त प्रिय गीत। बधाई जी।

Popular posts from this blog

कार चलाना सीखा वो भी तीन दिन मे .....

क्या उल्लू के घर मे रहने से लक्ष्मी मिलती है ?

निक नेम्स ( nick names )