Friday, June 27, 2008

है न आश्चर्य वाली बात कि विम्बलडन मे भी मैच fix होते है।अभी तक तो क्रिकेट के बारे मे ही सुना था पर अब

विम्बलडन भी इससे अछूता नही रहा
। पिछले साल हुए विम्बलडन खेलों मे ८ मैच fix किए गए थे।जिसमे से ४ पुरूष एकल खिताब के लिए खेले गए थे। और पिछले साल जिन १८ खिलाड़ियों ने ये मैच फिक्सिंग कि थी वो इस साल के विम्बलडन मे भी पुरूष एकल मुकाबले मे भाग लेने के लिए लन्दन पहुंचे है जिसमे रशिया ,अर्जेंटीना ,इटली,और ऑस्ट्रिया के खिलाड़ी है। विस्तार मे आप ख़बर यहाँ पढ़ सकते है।


महिला टेनिस खिलाड़ी मार्टिना नवरातिलोवा ने कहा है कि जिन खिलाड़ियों ने मैच फिक्सिंग कि है उनके खेलने पर जिंदगी भर का बैन लगाना चाहिए । नवरातिलोवा का कहना है कि ऐसे खिलाड़ियों पर बैन लगाना खेल की गरिमा को बनाए रखने के लिए जरुरी है।

7 Comments:

  1. कुश एक खूबसूरत ख्याल said...
    ये भी शायद खेल का हिस्सा बन गया है अब
    Gyandutt Pandey said...
    जहां पैसा वहां फिक्सिंग। इस हिसाब से केवल कबड्डी में ही ईमानदारी का चांस बचा है!
    अभिषेक ओझा said...
    ज्ञान जी से सहमत हूँ कबड्डी ही शायद बचा है अब.
    DR.ANURAG said...
    news hai bahi......ye to apne liye...
    महेंद्र मिश्रा said...
    अब मैच fix शायद खेल का हिस्सा बन गया है.
    Lavanyam - Antarman said...
    खेल का मजा ही जाता रहा है अब तो ..पैसा ही इस दुनिया का ईश्वर है !
    -- लावण्या
    Udan Tashtari said...
    बताईये यहाँ भी यह हाल है...

Post a Comment