Saturday, March 21, 2009

गुलाल फ़िल्म जिसे अनुराग कश्यप ने बनाया है ये गीत आरम्भ है उसी का है । वैसे अभी हमने फ़िल्म तो नही देखी ( सन्डे को देखेंगे ) पर इस फ़िल्म के २-३ गाने हमें बहुत पसंद आए है । एक-एक करके आपको सुनवायेंगे ।

इन गानों की सबसे अच्छी बात हमें ये लगी कि गाने के सारे बोल बहुत साफ़ है मतलब एक बार मे ही समझ आ जाते है । :) पियूष मिश्रा इसके गीतकार ओर संगीतकार है । राहुल राम ने गाया भी बहुत अच्छा है । पियूष मिश्रा का संगीत भी बहुत अच्छा है

Powered by eSnips.com

9 Comments:

  1. Udan Tashtari said...
    गाने हमने भी सुने और अच्छे लगे.
    P.N. Subramanian said...
    गाना अच्छा लगा. वीर रस की कविता पाठ जैसा.
    कुश said...
    जबसे सुना है ऑफीस में दिन भर सबको यही सुना रहे है.. और इसके लिरिक्स भी सबको बाँट दिए नेट पर..
    रंजना [रंजू भाटिया] said...
    इस के लिरिक्स कुश से मिलने के बाद सुने थे बहुत अच्छे लगे अभी पिक्चर देखनी बाकी है ..
    ज्ञानदत्त पाण्डेय | G.D.Pandey said...
    बड़ा ओजपूर्ण लगा जी।
    अभिषेक ओझा said...
    बिल्कुल वीर रस की कविता सा है यह गीत !
    Arvind Mishra said...
    हम भी कल देखने का मन बना रहे हैं !
    मा पलायनम ! said...
    अच्छा लगा ,प्रस्तुति के लिए आभार
    राज भाटिय़ा said...
    बहुत ही सुंदर
    धन्यवाद

Post a Comment