आख़िर माँ को मिला इन्साफ

६ सालों से चल रहे नीतीश कटारा मर्डर केस मे विशाल और विकास यादव को उम्र कैद की सजा हो गई है।फरवरी २००२ मे नीतीश का मर्डर विशाल और विकास ने किया था और वजह थी यादव बंधुयों की बहन भारती यादव का नीतीश से प्यार करना। जो इस परिवार को बिल्कुल भी पसंद नही था।

इस लड़ाई को नीतीश की माँ ने बड़ी हिम्मत से लड़ा क्यूंकि जहाँ एक तरफ़ वो थी वहीं दूसरी तरफ़ यू,पी,के डी.पी.यादव थे जिनके बारे मे तो सभी जानते है। इस ६ सालों मे कितने ही गवाह मुकर गए पर अजय कटारा जो की इस केस का मुख्य गवाह था उसकी गवाही ने इस केस को इसके अंजाम तक पहुंचाने मे मदद की।

२ दिन पहले इस केस की सुनवाई खत्म हुई थी और आज इन दोनों भाइयों को उम्र कैद की सजा सुनाई गई। आज एक माँ की जीत हुई है। और आज ये कहने मे कोई संकोच नही है कि भगवान के घर देर है अंधेर नही।

Comments

सही कहा ईश्वर के घर देर है अंधेर नही ..जो हुआ अच्छा हुआ
ममता जी, आखिर यह कब तक चलता रहेगा कि कोई भी लड़की या तो प्यार न करे या फिर अपने परिवार के सभी लोगों की मरजी से करे।
एक औरत की हिम्मत की जीती जागती मिसाल .....काश ये न्याय जल्दी हुआ होता....
हत्या में उम्र कैद भर। खैर कुछ तो न्याय हुआ।
Udan Tashtari said…
न्याय व्यवस्था में विश्वास लौटता है.
सही बात है कि भगवान के घर में देर है अंधेर नहीं है।
देर आयद दुरस्त आयद.
पर न्याय प्रक्रिया मी ये देरी मुझे अन्याय के समान प्रतीत होती है.
Rachna Singh said…
better late then never and hats off to neelam katara
rakhshanda said…
बिल्कुल सही कहा, ये एक माँ के सब्र की जीत है.

Popular posts from this blog

क्या उल्लू के घर मे रहने से लक्ष्मी मिलती है ?

निक नेम्स ( nick names )

क्या सांप की आँख मे मारने वाले की तस्वीर उतर जाती है ?(एक और डरावनी पोस्ट )