Tuesday, September 30, 2008

कल पितृ पक्ष के समापन के साथ आज से नवरात्र की शुरुआत हो रही है तो इस पहले दिन की शुरुआत क्यूँ माँ की स्तुति से की जाए
नवरात्र के साथ कितनी बातें याद जाती है जैसे कहीं नौ दिन तक लोग व्रत करते है तो कहीं डांडिया रास (गुजरात)खेलते है तो कहीं नवरात्र मे चौकी निकालने का चलन है (इलाहाबाद मे ) कहीं घर मे कलश मे जाऊ के बीज डाले जाते है और नौवें दिन हवन किया जाता है तो कहीं नौवें दिन कन्या पूजी जाती है और कहीं दुर्गा पूजा के (कोलकता )बड़े-बड़े मंडप सजते हैतो आप भी इन नौ दिन यानी नवरात्रों का आनंद उठाइए व्रत करिए डांडिया रास करिए । :)

Powered by eSnips.com

15 Comments:

  1. Arvind Mishra said...
    नवरात्रि या नवरात्र ममता जी ?
    mamta said...
    अरविन्द जी हम लोग तो नवरात्र ही बोलते है (इलाहाबाद ) वैसे नवरात्र या नवरात्रि कुछ भी कह सकते है ।
    mamta said...
    इसीलिए हमने नवरात्रि और नवरात्र दोनों ही लिखा है।
    Anil Pusadkar said...
    आपको भी नवरात्रि की शुभकामनाएं ।
    rakhshanda said...
    आपको ईद और नवरात्रि की शुभकामनाएं ममता जी...
    रंजना [रंजू भाटिया] said...
    नवरात्रि की हार्दिक शुभ कामनाएं ...
    रंजन said...
    जोधपुर की घटना से बहुत दुखी है.. क्या कहे..
    कंचन सिंह चौहान said...
    Navratri ki Pavan Shubhkamnae.n
    डॉ .अनुराग said...
    नवरात्रि की हार्दिक मंगलकामनाऐं.
    Gyandutt Pandey said...
    नवरात्र-पर्व मंगलमय हो!
    Parul said...
    aapko bhi shubhkaamnayen MAMTAA
    दिनेशराय द्विवेदी said...
    नौरते शुरु, आप को शुभकामनाएँ।
    हम यहाँ यही कहते हैं।
    लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...
    माँ की स्तुति बहुत पसँद आयी ..
    आपको परिवार सहित नवरात्र की शभकामना :)
    - लावण्या
    Udan Tashtari said...
    नवरात्रि की हार्दिक मंगलकामनाऐं.
    Mrs. Asha Joglekar said...
    सुंदर । आपको भी नवरात्र की सुब कामनाएँ ।

Post a Comment