Monday, March 24, 2008


आज हम कुछ ज्यादा लिखेंगे नही बस ये चंद फोटो लगा रहे है।कल शाम ५ बजे खूब जोरदार बारिश हुई थी और उस दौरान प्रकृति का ये नजारा देखने को मिला यानी की इन्द्र धनुष ।बारिश के पहले घने बादलों ने कुछ इस तरह से पंजिम को घेरना शुरू किया था





इसमे इन्द्र धनुष बारिश के बीच मे बनता हुआ दिख रहा है।



और इस फोटो मे बारिश के बाद खिली हुई धूप मे इन्द्र धनुष दिख रहा है।










बड़े सालों बाद इन्द्र धनुष देखने को मिला क्यूंकि दिल्ली की ऊँची-ऊँची इमारतों इन्द्र धनुष क्या आसमान भी ठीक तरह से नही दिखता है।



8 Comments:

  1. vimal verma said...
    ममताजी, संयोग देखिये आपने इंद्रधनुष को पंजिम में देखा और मैने इसे वास्को-डिगामा से देखा,बड़े अरसे बाद देखा था,मैं दरअसल होली में गोआ में ही था,पर मेरे साथ कुछ मंडली ज़्यादा थी इसलिये आपसे सम्पर्क नहीं साध पाया,पर इंद्रधनुष देखने का सुख अजब था,इस पर आपकी पोस्ट देखकर हमें तो मज़ा आ गया।
    पंकज अवधिया Pankaj Oudhia said...
    क्षमा करिये पर मेरा ध्यान बायी तरफ वाले पेड पर अटक गया है। ठीक से पहचान नही पा रहा हूँ। दिखता तो गुलमोहर जैसा है। आप बताये कौन सा है?
    Sanjeet Tripathi said...
    सुंदर!!
    मीनाक्षी said...
    मनमोहक चित्र
    राज भाटिय़ा said...
    बहुत ही मनभावन चित्र हे,ममता जी पुरे इन्द्र धनुष का भी एक चित्र हो जाता, धन्यवाद सुन्दर चित्र दिखाने के लिये
    सुनीता शानू said...
    आप फोटो ग्राफ़ी भी बहुत अच्छी करती हैं...:)
    mamta said...
    पंकज जी ये गुलमोहर का पेड़ नही है। इसमे कुछ गुलाबी और सफ़ेद रंग के फूल आते है।
    pooja said...
    bahut sundar hai.
    Adbhut!
    Dekhkar Hi man Bheeg Gaya.

Post a Comment