लालू यादव या चिदाम्बरम

चिदाम्बरम जी जो हमारे वित्त मंत्री हैं और लालू यादव जो रेलवे मंत्री है दोनों ने अपना -अपना बजट संसद मे पेश किया.रेलवे मंत्री के बजट ने जहाँ सब आम और खास को खुशी दी वही वित्त मंत्री जी ने सबके दिल पर चोट पहुचाई.उन्होने लोगो की बचत की सीमा मात्र १० हजार बढा कर ऐसे दिखा रहे ह मानो ५० हजार किया हो.मेरे ख्याल से लालु यादव जी को वित्त मन्त्री बना देना चाहिये क्योकि जिस रेलवे को जबर्द्स्त घाटा हो रहा था अगर उसमे २०हजार करोड का मुनाफा हो सकता है तो शायद उनके वित्त मन्त्री बनने से भी जनता का भला हो जाये.

Comments

Popular posts from this blog

कार चलाना सीखा वो भी तीन दिन मे .....

क्या उल्लू के घर मे रहने से लक्ष्मी मिलती है ?

निक नेम्स ( nick names )