Saturday, April 4, 2009

इससे पहले आपने आरम्भ है और दुनिया सुना था । वैसे बहुत सालों बाद गुरूवार को हमने दोबारा ये फ़िल्म देखी । :) और इस बार भी हमें ये फ़िल्म पसंद आई

तो सोचा कि आज शहर और यारा मौला भी आप लोगों को सुनवाया जाएअरे तो इंतजार कैसा । :)



Powered by eSnips.com

6 Comments:

  1. डॉ. मनोज मिश्र said...
    मजेदार गीत है .
    कुश said...
    गुलाल के सारे गाने मुझे पसंद आये.. दो बार देख चूका हु मैं भी ये फिल्म..
    P.N. Subramanian said...
    गीत अच्छे लगे. आभार.
    राज भाटिय़ा said...
    :) राम राम जी की
    ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...
    सुन्दर।
    Pyaasa Sajal said...
    gulaal movie to mujhe pasand hai hi par iske gaane to bahut bahut zyaada khaas lagte hai mujhe...adbhut hai

Post a Comment