Thursday, August 21, 2008

और अगर नही सुने है तो आज यहाँ पर सुन लीजिये। इस आमिर फ़िल्म के गीतों मे सूफियाना अंदाज हमें तो बहुत पसंद आया है। और आशा है कि आपको भी पसंद आएगा। पसंद आए या ना आए बता जरुर दीजियेगा। :)
पहले दो गाने आमिर फ़िल्म के हैदोनों ही गाने अलग अंदाज और मूड के हैपर जिंदगी की हकीकत के बहुत करीब है

बाद के दोनों गाने फ़िल्म खुदा के लिए के हैहमे जितनी फ़िल्म पसंद आई थी उतनी ही इसके गाने भी


Powered by eSnips.com


आप सभी की शुभकामनाओं की वजह से पापा बिल्कुल ठीक है और इलाहाबाद मे है और हम भी कल इलाहाबाद जा रहे हैतो अगली पोस्ट हम इलाहाबाद से लिखेंगे

11 Comments:

  1. राज भाटिय़ा said...
    ममता जी धन्यवाद इन सुन्दर गीतो के लिये, आप के पिता जी ओर आप को बहुत बहुत बधाई,
    अब आप पिता जी का पुरा ध्यान रखे-
    आप सब को शुभकामनाये
    कुश एक खूबसूरत ख्याल said...
    आमिर फिल्म जितनी खूबसूरत है इसके गाने उतने ही दिलकश.. मैं तो रोज़ सुनता हू.. चक्कर घूमियो और या रहम लाजवाब गाने है.. शुक्रिया लिंक देने के लिए

    पिताजी को हमारी और से शुभकामनाए
    अनुराग said...
    आमिर के सुने है .खुदा के लिए नही .....सुनवाने का शुक्रिया......

    aamir meri pasndida film hai ....
    रंजना [रंजू भाटिया] said...
    वाह यह गाने बहुत पसंद हैं मुझे .सुनवाने के लिए शुक्रिया ...अपने पापा जी के साथ खूब बातें करे एन्जॉय करें :)
    Parul said...
    dono filmey laajavab hain...gaano ke liye shukriyaa
    अभिषेक ओझा said...
    'खुदा के लिए' के गाने सुने भी है और फ़िल्म भी देखि है... आमिर अभी देखनी है... गाने भी नहीं सुने थे ...
    Udan Tashtari said...
    वाह, पेश करने का आभार.
    Lavanyam - Antarman said...
    पहलीबार ही सुने ये सारे गाने ..शुक्रिया ममताजी !
    - लावण्या
    महेंद्र मिश्रा said...
    शुक्रिया ममताजी
    महेंद्र मिश्रा said...
    शुक्रिया ममताजी
    Tarun said...
    aamir film ki dusri sundar baat yeh thi ki gaane film ke beech me nahi bhare thai. soundtrek alag se banaya gaya tha.

Post a Comment