जापान और चीन का यात्रा विवरण ( Sensoji temple ,asakusa )





Sensoji temple टोक्यो शहर के असाकुसा में है । ये टोक्यो का सबसे पुराना बौद्ध मंदिर है । इस टेम्पल के लिए टोक्यो स्टेशन ,शिनज़ूकु स्टेशन ,शिबया,या अकिहाबारा से जाया जा सकता है । कहीं से भी बीस से तीस मिनट में यहाँ पहुँचा जा सकता है । वैसे हम लोग nakamise शॉपिंग वाली साइड से गए थे ।







जैसे ही इस टेम्पल के पास पहुँचने लगते है तभी चारों तरफ़ जापानी पारम्परिक ड्रेस yukata ( आदमी पहनते है ) और kimono ( औरतें पहनती है ) में लोग दिखाई देने लगते है। और जापानी सोविनीयर की सबसे बड़ी मार्केट यही पर है। इस मार्केट का नाम nakamise shopping arcade । यहाँ से daruma dolls, masks,lucky charms Japanese chocolate ,rice crackers ,जापानी ड्रेस , छाता ,जापानी पंखा और भी बहुत कुछ ख़रीदा जा सकता है । रास्ते में जाते हुए कई तरह और साइज़ के चाक़ू की दुकान भी दिखती है। ऐसा कहते है कि इस तरह के चाक़ू का इस्तेमाल हर जापानी घर में होता है। :)



पर एक बात है यहाँ पर बिलकुल भी बारगेनिंग नहीं होती है भले आप सामान ले या ना ले ,और एक बात वहाँ ज़्यादा तर दुकानदार महिलाएँ होती है । यहाँ पर लोकल जापानी खाने की चीज़ें जैसे शकरकंद के पकोड़े ,मोचा स्वीट्स ,ग्रीन टी आइस क्रीम भी मिलती है जिनका आनंद उठाया जा सकता है।









आम तौर पर इस टेम्पल में जाने के लिए kaminarimon गेट से जाते है । इस गेट पर दो स्टैचू है fujin sama और raijin sama। fujin sama मतलब God of wind और raijin sama मतलब God of thunder and lightening। इस टेम्पल के गेट पर ख़ूब बड़ी बड़ी लैंटर्न भी टँगी हुई है और इन लैंटर्न पर kaminarimon और thundergate लिखा हुआ है। और इन लैंटर्न के अंदर ड्रैगन बने हुए है। यहाँ से आगे बढ़ने पर बड़ा सा खुला प्रांगण दिखता है जहाँ एक तरफ़ हाथ धोने के लिए बना होता है और प्रांगण के बीचों बीच में अगरबत्ती जलाने के लिए बना है। वहाँ से मुख्य टेम्पल में ऊपर जाने के लिए सीढ़ियाँ बनी हुई है ।





इस टेम्पल में अंदर जाने पर बहुत ही सुंदर और गोल्डन रंग का सिंहासन टाइप का दिखता है यहाँ कोई मूर्ति नहीं दिखाई देती है । इसके अंदर कुछ पूजा होती रहती है। यहाँ से बाहर देखने पर पूरा sensoji टेम्पल दिखाई देता है । इस टेम्पल के बायीं ओर पाँच मंज़िला पगोडा बना है जो बहुत सुंदर दिखाई देता है पर उस समय बंद था।



टेम्पल के दायीं ओर दुकानो के पीछे Nisonbutsu अर्थात दो बुद्धा एक साथ बने हुए है। इसमें दायीं ओर वाले बुद्धा अपने भक्तों पर दया और बाँयी ओर वाले बुद्धा बुद्धि या बुद्धिमत्ता देने वाले माने गए है। इसी के पास ही ये एक माँ बच्चे की मूर्ति है जिसपर जापानी में कुछ लिखा है ।





और हाँ इस टेम्पल में घूमते हुए जापानी लोग जो अपने पारम्परिक ड्रेस में होते है चाहे वो आदमी हो या औरते ,वो ख़ुशी ख़ुशी आपके साथ फ़ोटो खिंचाने के लिए तैयार हो जाते है क्यूँकि जापानी लोग बहुत सीधे होते है। और हमेशा ख़ुश और मुस्कराते रहते है।



यहाँ से आगे बढ़ने पर जापानी मोचा स्वीट की दुकान आती है जहाँ से हमने मोचा स्वीट का डिब्बा भी लिया। और घूमते टहलते वापिस आ गए। :)






Comments

Popular posts from this blog

कार चलाना सीखा वो भी तीन दिन मे .....

क्या उल्लू के घर मे रहने से लक्ष्मी मिलती है ?

निक नेम्स ( nick names )